योगमाया योग केंद्र-ध्यान योग केंद्र आपके लिए लाए हैं ‘गठिया’ रोग से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी।

            गठिया से पीड़ित श्री दिनेश कुमार गुप्ता

योगमाया योग केंद्र-ध्यान योग केंद्र आपके लिए लाए हैं ‘गठिया’ रोग से संबंधित सम्पूर्ण जानकारी

                                *गठिया:-*

🌞 सामान्‍यतया गठिया रोग 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को होता है, लेकिन वर्तमान में इसकी चपेट में युवा ही नहीं बच्‍चे भी आ रहे हैं। गठिया का रोग यानी आर्थराइटिस से शरीर के जोड़ो में दर्द और सूजन आ जाती है। गठिया रोग अचानक नहीं होता बल्कि धीरे-धीरे फैलता है इसलिए गठिया का सही उपचार जरूरी है। 

 

                  *आयुर्वेद और गठिया*

आयुर्वेद के अनुसार गठिया होने के कारकों में खराब पाचन, खानपान की गलत आदतें और निष्क्रिय जीवनशैली के साथ ही वात दोष को माना गया है।

                     

                     *आयुर्वेदिक उपचार*  

आयुर्वेद के अनुसार यह समस्‍या आम-वात से जानी जाती है।आयुर्वेद में इसका उपचार योजनाबद्ध तरीके से किया जाता है।उपचार में एरंड के तेल के साथ दूध का सेवन है फायदेमंद है।

🌞 ध्यान योग केंद्र-योगमाया योग केंद्र के अनुसार गठिया के उपचार में जितनी जरूरी इसकी चिकित्सा है, उससे कहीं अधिक जरूरी परहेज भी है।

रोगी के लिए ध्यान योग केंद्र -योगमाया योग केंद्र में विशेष प्रकार के व्यायाम कराए जाते हैं और सप्ताह में एक से दो बार सोने के पहले 25 मिलीलीटर एरंड के तेल का दूध के साथ सेवन कि सलाह दि जाति है। 

             गठिया रोग के लिए खास योगासन

 

              पार्टनर्स योग -पश्चिमोत्तानासन

 

                      कटिचक्रासन- बैठकर

 

                    कटिचक्रासन- खड़े होकर

 

    महत्वपूर्ण स्वशन क्रिया- गठिया में फायदेमंद

 

                           *खानपान*

🌞ध्यान योग केंद्र-योगमाया योग केंद्र के अनुसार मरीजों के लिए खानपान पर विशेष ध्‍यान देना चाहिए। अधिक तेल व मिर्च वाले भोजन से परहेज रखें और डाइट में प्रोटीन की अधिकता वाली चीजें न लें

भोजन में बथुआ, मेथी, सरसों का साग, पालक, हरी सब्जियां, मूंग, मसूर, परवल, तोरई, लौकी, अंगूर, अनार, पपीता, आदि का सेवन करें।

इसके अलावा नियमित रूप से लहसुन व अदरक आदि का सेवन भी इसके उपचार में फायदेमंद है।

🌞 ध्यान योग केंद्र-योगमाया योग केंद्र के अनुसार अर्थराइटिस के इलाज के लिए इम्यून सिस्टम का मजबूत होना बेहद आवश्यक है, साथ ही पाचन तंत्र का भी बेहतर होना जरूरी है। इसलिए नियमित व्‍यायाम के साथ खानपान का विशेष ध्‍यान रखें।

◼◼◼◼◼◼◼◼◼◼◼

*अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें:-*

*ध्यान योग केंद्र- योगमाया योग केंद्र*
( *Right way of doing Yoga*)
📱 *7014289144, 8949 208 520

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published.