अच्छी नींद के महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक सूत्र- राजीव दीक्षित

कुछ समय से ‘ध्यान योग केंद्र ग्रुप’ में कई लोग काफी शारीरिक और मानसिक समस्याएं लेकर आ रहे हैं जैसे – अनिद्रा कि शिकायत , माइग्राने , बेक पैन , ओबेसिटी , नीज पैन, अस्थमा , गठिया , कंसंट्रेशन ,कैंसर इत्यादि .

‘ध्यान योग केंद्र ग्रुप’ प्रतिबद्ध है आप सभी कि सभी प्रकार कि समस्याओं से निजात दिलाने के लिए. समय अभाव या दूरी के कारण  जिन लोगो तक ‘ध्यान योग केंद्र’  नही पहुच पा रहा उनके लिए ‘ध्यान योग केंद्र’ जल्द ही ‘यू tube’ चैनल लांच करने जा रहा है.

आज ‘ध्यान योग केंद्र ग्रुप’  अनिद्रा कि समस्या का समाधान विभिन्न तरीको से बताने कि कोशिश करेगा .

अनिद्रा या इनसोमनिया एक नींद न आने की बीमारी है जो अच्छी नींद को प्रभावित करती है.

नींद न आने की समस्या (अनिद्रा) के उपचार के लिए, इसके पीछे के कारणों को जानना और उनका इलाज करना महत्वपूर्ण है। यह जीवन की घटनाओं, तनाव और बुरी आदतों के कारण हो सकती है जो आपके सोने के तरीके को प्रभावित करते हैं हालांकि, अनिद्रा के कुछ अन्य कारणों में शामिल हैं:

तनाव – परिवार की वित्तीय स्थिति, स्वास्थ्य, विद्यालय और काम के बारे में चिंता करना, अगर आप थक गए हों तो हमारा मन भी सक्रिय हो सकता है। जिससे सोना बहुत कठिन हो जाता है आघात या जीवन की घटनाओं जैसे नौकरी छूट जाना, तलाक, बीमारी या किसी प्रिय की मौत के कारण अनिद्रा हो सकता है.

अस्वस्थ नींद की आदतें – नींद की आदतें जैसे कि सोने से पहले खाना, बहुत ज्यादा टेलीविजन देखना, काम के दौरान अपने बिस्तर का उपयोग करना, सोने का वातावरण सही ना होना, सोने से पहले उत्तेजनाओं वाले कम करना, अनियमित सोने के समय अनिद्रा पैदा कर सकता है।

मानसिक समस्याएं – जैसे पोस्ट ट्रामाटिक तनाव विकार या चिंता विकार जैसे विकार भी अनिद्रा को गति प्रदान कर सकते हैं।

‘ध्यान योग केंद्र ग्रुप’ आपके लिए लाया है , अत्यंत महत्वपूर्ण जानकारी 

Rajiv Dixit – अच्छी नींद के महत्वपूर्ण आयुर्वेदिक सूत्र | How To Cure Insomnia With Ayurveda

अगर अच्छा लगे तो जरुरत मंद लोगो तक जरूर शेयर करे –

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे :

‘ध्यान योग केंद्र ग्रुप’

महेश नगर, निर्माण नगर, वैशाली नगर (जयपुर), सेक्टर -१०, १४ (गुडगाँव )

9799097860, 7014289144

www.dhyanyogakendra.com

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published.